Home » माध्यमिक के बाद प्राथमिक स्कूलों को भी खोलने की तैयारी, स्वच्छता के निर्देश
एजुकेशन न्यूज

माध्यमिक के बाद प्राथमिक स्कूलों को भी खोलने की तैयारी, स्वच्छता के निर्देश

माध्यमिक विद्यालयों, डिग्री कॉलेजों और विश्वविद्यालयों को 16 अगस्त से खोलने के फैसले के साथ ही प्राथमिक विद्यालयों को भी खोलने की तैयारी शुरू कर दी गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ग्राम्य और नगर विकास विभाग को बेसिक शिक्षा विभाग से समन्वय बनाकर स्वच्छता और सैनिटाइजेशन के निर्देश दिया है। हालांकि, एक वर्ग ऐसा भी है जो विद्यालयों को खोलने के मुख्यमंत्री के निर्देश को जल्दवाजी में उठाया गया कदम बता रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में कोरोना संक्रमण की नियंत्रित स्थिति को देखते हुए शिक्षण संस्थानों में नवीन सत्र को प्रारम्भ करने की तैयारी की जाए। विभिन्न बोर्डों के इण्टरमीडिएट के परीक्षाफल घोषित हो चुके हैं। इसके दृष्टिगत स्नातक स्तर पर प्रवेश प्रक्रिया 05 अगस्त, 2021 से प्रारम्भ की जाए। माध्यमिक शिक्षण संस्थानों में अगली कक्षा मंे प्रोन्नत विद्यार्थियों की कक्षाएं 15 अगस्त, 2021 से प्रारम्भ की जाएं। स्वाधीनता दिवस के अवसर पर 15 अगस्त को ‘स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव’ से सम्बन्धित कार्यक्रम आयोजित किये जाएं।  

सीएम ने कहा कि माध्यमिक शिक्षण संस्थाओं में 16 अगस्त, 2021 से विद्यार्थियों की आधी उपस्थिति के साथ पठन-पाठन का कार्य प्रारम्भ किया जाए। उच्च शिक्षण संस्थाओं में भी प्रत्येक दशा में 01 सितम्बर, 2021 से शिक्षण कार्य प्रारम्भ करने की तैयारी की जाए। प्रत्येक शिक्षण संस्थान में कोविड प्रोटोकॉल का अनिवार्य रूप से पालन सुनिश्चित कराया जाए। मास्क एवं दो गज की दूरी के नियम का पालन किया जाए। संस्थान में सैनिटाइजर, इंफ्रारेड थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर की उपलब्धता रहे। शिक्षण संस्थाओं में 18 वर्ष से अधिक आयु के विद्यार्थियों के कोरोना टीकाकरण के सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा कार्ययोजना तैयार की जाए।

मुुख्यमंत्री ने कहा कि बेसिक शिक्षा विभाग से समन्वय बनाकर ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के तथा नगर विकास विभाग द्वारा नगरीय क्षेत्रों के परिषदीय विद्यालयों में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन एवं शौचालयों आदि की साफ-सफाई का कार्य कराया जाए। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों मंे स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने में मुख्यमंत्री आरोग्य मेलों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना की नियंत्रित स्थिति को देखते हुए स्वाधीनता दिवस के उपरान्त मुख्यमंत्री आरोग्य मेलों के पुनः आयोजन की तैयारी की जाए। उन्होंने कहा कि आरोग्य मेलों के दौरान स्वास्थ्य परीक्षण के साथ ही, आयुष्मान भारत योजना तथा मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के कार्ड भी बनाएं जाएं।

मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि 26 जुलाई, 2021 से विशेष अभियान चलाकर आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत पात्र परिवारों के आयुष्मान कार्ड बनाए जा रहे हैं। 31 जुलाई, 2021 तक 02 लाख 46 हजार नए आयुष्मान कार्ड बनाए गए हैं। मुख्यमंत्री जी ने कार्ड बनाने के कार्य को पूरी प्रतिबद्धता से संचालित करने के निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे अन्त्योदय कार्ड धारक परिवार, जो प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अथवा मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना मंे से किसी भी योजना से आच्छादित नही हैं, को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में सम्मिलित करने का निर्णय लिया गया है। इस निर्णय से 40 लाख से अधिक अन्त्योदय कार्ड धारक परिवार लाभान्वित होंगे। उन्होंने सभी पात्र परिवारों को योजना से लाभान्वित कराए जाने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 05 अगस्त, 2021 को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अन्तर्गत लाभान्वित हो रहे प्रदेश के लाभार्थियों से संवाद करेंगे। यह कार्यक्रम राज्य में सार्वजनिक वितरण प्रणाली की 80 हजार से अधिक दुकानों पर प्रस्तावित है। कार्यक्रम की व्यापक तैयारी के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कार्यक्रम के लिए सेक्टर प्रणाली के आधार पर सभी आवश्यक प्रबन्ध किये जाएं। कार्यक्रम के दौरान जन प्रतिनिधियों की उपस्थिति के लिए सभी से संवाद बना लिया जाए। कार्यक्रम स्थल पर टेलीविजन, वीडियो वॉल लगवाई जाए, जिससे अधिकाधिक लोग कार्यक्रम से लाभान्वित हो सकें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड संक्रमण को नियंत्रित करने में वैक्सीनेशन एक महत्वपूर्ण सुरक्षा कवच है। कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य पूरी सक्रियता से संचालित किये जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी वैक्सीनेशन सेण्टर पर पर्याप्त संख्या में वैक्सीन की उपलब्धता रहे। कोविड वैक्सीनेशन के लिए ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया को प्रोत्साहित किया जाए। मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि प्रदेश में विगत दिवस तक 04 करोड़ 84 लाख 43 हजार 141 कोरोना वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है।