Home » चेरापूंजी से सर्वाधिक बारिश का छिना गौरव लौटाने का अभियान
देश न्यूज

चेरापूंजी से सर्वाधिक बारिश का छिना गौरव लौटाने का अभियान

मेघालय के चेरापूंजी में वनीकरण अभियान को शुरू कराते गृह मंत्री अमित शाह। (फोटो- पीआईबी)

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मेघालय यात्रा के दूसरे दिन रविवार को सोहरा (चेरापूंजी) में हरित सोहरा वनीकरण अभियान का शुभारंभ कर उसका गुम हुआ गौरव वापस दिलाने का आह्वान किया है। मेघालय सरकार द्वारा असम राइफ़ल्स के सहयोग से यह वनारोपण अभियान चलाया जाएगा। अमित शाह ने ग्रेटर सोहरा वॉटर सप्लाई स्कीम का उद्घाटन भी किया।

श्री शाह ने “सदाबहार पूर्वोत्तर” का नारा दिया। गृह मंत्री ने कहा कि पहले चेरापूंजी में सालभर बारिश होती थी, परंतु विकास के नाम पर पेड़ों की अंधाधुध कटाई से स्थिति बदल गई है। उन्होंने कहा कि चेरापूंजी को फिर से हरा-भरा बनाने का एक महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट अब शुरू हुआ है।

असम रायफल्स लेगा गोद

बताया कि चेरापूंजी के पूरे इलाके को वृक्षारोपण की दृष्टि से असम राइफल अडॉप्ट करने वाला है। उन्‍होंने कहा कि ईंधन तथा अन्य उपयोगों के लिए वृक्ष काटे जाते हैं, इसलिए कुल भूमि में से 80% परंपरागत और लंबी आयु वाले वृक्षों की पौध लगाई जाएगी। शेष 20% में पशु चारण, सजावटी वृक्ष और नर्सरी लगाने का काम किया जाएगा जिससे सभी आवश्यकताओं को पूरा करते हुए लंबी आयु वाले वृक्ष काटने के कारणों को कम किया जा सके। इस तकनीक से मल्टी लेवल फार्मिंग होती है और 30 गुना तेजी से जंगल बढ़ता है। 3 साल के बाद वह मेंटेनेंस से मुक्त हो जाता है। इससे ईको-टूरिज्म को काफी फायदा होगा। मेघालय के पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा।

श्री शाह ने कहा कि देश की सीमाओं की सुरक्षा के लिए तैनात पैरामिलिट्री फोर्सेज के कारण हमारा भारत अक्ष्‍क्षुण है। विगत दो वर्षों से उन्‍होंने पर्यावरण सुधार का भी जिम्‍मा संभाला है और अभी तक एक करोड़ अड़तालीस लाख (1.48 करोड़)  लगाए जिसमें एक करोड़ छत्तीस लाख (1.36 करोड़) पौधे जीवित हैं। उन्‍होंने कहा कि इस वर्ष भी रणनीति बनाकर अलग-अलग क्षेत्रों में लगभग एक करोड पौधे रोपे जाएंगे तथा अगले तीन वर्षों में 1000 हेक्‍टेयर में 1 मिलियन वृक्ष लगाने का लक्ष्‍य रखा गया है।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि पूरी दुनिया ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन के खिलाफ लड़ रही है। पीएम नरेंद्र मोदी ने देश में बडी संख्‍या में घरेलू गैस चूल्‍हे पंहुचाकर कार्बन उत्‍सर्जन को रोकने का काम किया है तथा आज जल विद्युत और सोलर पावर में भारत सबसे आगे है।

श्री शाह ने कहा कि पेरिस समझौते में मोदी की प्रस्‍तावित कार्य योजना के साथ पूरी दुनिया ग्‍लोबल वार्मिंग और कार्बन उत्‍सर्जन के खिलाफ लड रही है। श्री शाह ने कहा कि जो लड़ाई हम लड़ने जा रहे हैं वह जिला पंचायत, तालुका पंचायत स्‍तर पर आम जनता के सहयोग के बगैर सफल नहीं हो सकती।

अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट जल जीवन मिशन के अंतर्गत नॉर्थ-ईस्‍ट स्पेशल इंफ्रास्ट्रक्चर स्कीम के तहत डोनर मंत्रालय और मेघालय सरकार ₹25 करोड की लागत के ग्रेटर सोहरा वाटर प्रोजेक्‍ट से देश के हर परिवार, हर घर तक शुद्ध पीने का पानी नल से पहुंचाने का काम किया जाना है। श्री शाह ने कहा कि यदि पानी का स्रोत शुद्ध नहीं है तो मानवस्‍वस्‍थ नहीं रहेगा। इसलिए मोदी ने देश की आजादी के 75 वर्ष पूरे होने तथा मेघालय के 50 वर्ष पूरे होने तक मेघालय राज्‍य तथा देश के हर घर में शुद्ध पीने का पानी पहुंचाने का लक्ष्य लिया है।

मेघालय को हर घर जल के लिए 400 करोड़ आवंटित

मेघालय में 2,80,000 परिवारों को पीने का पानी पहुंचाने का महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है, जिसे 1874 छोटी-छोटी परियोजनाओं में बांटा गया है। इस दुर्गम क्षेत्र में इतना महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट पहुंचाने का कार्य अत्यंत महत्वपूर्ण और चुनौतीपूर्ण है। केंद्र सरकार ने अब तक 400 करोड रुपए आवंटित किया है तथा जैसे-जैसे काम आगे बढ़ेगा और आवंटन किया जाएगा। श्री शाह ने कहा कि असम राइफल का इतिहास है कि 180 वर्षों में जो भी कार्य उन्‍हें दिया गया है पूरी लगन से उन्‍होंने समय रहते पूर्ण किया है।

गृह मंत्री अमित शाह की पहल पर शुरू किए गए वृक्षारोपण अभियान के अंतर्गत रविवार को सभी केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CAPFs) देशभर में वृक्षारोपण कर रहे हैं। इस अभियान के तहत आज 16 लाख 31 हज़ार से अधिक पौधे लगाए जाएँगे। श्री शाह ने सोहरा स्थित रामकृष्ण मिशन में स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। वे पूजा कार्यक्रम में भी शामिल हुए। श्री शाह ने रामकृष्ण मिशन के गणमान्य व्यक्तियों से मुलाक़ात भी की।