Home » PPP में 29 जोड़ी यात्री ट्रेनों के लिए निजी क्षेत्र की बोलियां खुलीं
न्यूज परिवहन

PPP में 29 जोड़ी यात्री ट्रेनों के लिए निजी क्षेत्र की बोलियां खुलीं

निजी एवं सार्वजनिक क्षेत्र परियोजना में यात्री ट्रेनों को दौड़ाने में रेलवे को बड़ी सफलता मिलने जा रही है। शुक्रवार को रेलवे ने 29 ट्रेनों के लिए बोलियां खोल दी हैं। दावा है कि इस परियोजना से रेलवे में 7200 करोड़ रुपये का निवेश प्राप्त होगा। ट्रेनों के 40 अत्याधुनिक रेक के संचालन के लिए दुनियाभर से कई कंपनियों ने इसमें रुचि दिखाई है। इन ट्रेनों में यात्री सुविधाएं शानदार होंगी लेकिन किराया भी उसी के अनुरूप देने के लिए लोगों को तैयार रहना होगा।

रेल मंत्रालय ने कहा है कि यात्री ट्रेन संचालन परियोजना में पीपीपी के लिए बोलियां आज खोली गईं। इनके जरिए लगभग 7200 करोड़ रुपये के निवेश से लगभग 40 आधुनिक रेक के साथ 29 जोड़ी ट्रेनों के संचालन किया जाएगा। प्रसार भारती न्यूज सर्विस ने भी पीपीपी मॉडल वाली ट्रेनों के बोलियों के खुलने की जानकारी दी है।

मंत्रालय ने कहा है कि तेजी से मूल्यांकन प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा और बोलियों पर फैसला होगा। उम्मीद की जा रही है कि यदि कोरोना महामारी के कारण कोई अड़चन न आई तो त्योहारी सीजन के आसपास पीपीपी मॉडल वाली ट्रेनें यात्रियों के लिए सुलभ हो सकती हैं।

बता दें कि 2019 में रेलवे ने लखनऊ से नई दिल्ली के बीच तेजस एक्सप्रेस ट्रेन को पीपीपी मॉडल पर शुरू किया था। इसके बाद एक ट्रेन अहमदाबाद के लिए भी चलाई गई। हालांकि, दोनों ट्रेनों में किराए को लेकर हंगामा मचा था। साथ ही दोनों ट्रेनों को आमदनी के लिहाज से सफल नहीं माना गया।