Home » यूपीः पंचायतों, निकाय प्रतिनिधियों की मदद के लिए प्रबंधन, तकनीकी डिग्रीधारकों का मिलेगा साथ
उत्तर प्रदेश न्यूज

यूपीः पंचायतों, निकाय प्रतिनिधियों की मदद के लिए प्रबंधन, तकनीकी डिग्रीधारकों का मिलेगा साथ

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य में एक्सप्रेस-वे परियोजनाओं का निर्माण कार्य पूरी गति से संचालित किया जा रहा है। शीघ्र ही प्रदेशवासियों को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उपहार मिलने जा रहा है। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे एवं गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य भी पूरी तेजी से चल रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायतों और नगरीय निकायों में निर्वाचित जन प्रतिनिधियों को सहयोग प्रदान करने के लिये प्रबन्धन अथवा तकनीकी क्षेत्र के डिग्रीधारक युवाओं की सेवाएं प्राप्त करने पर विचार किया जाए। उन्होंने कहा कि यह युवा निर्वाचित जनप्रतिनिधियों का दैनिक कार्यों में सहयोग करने के साथ ही, अपने प्रोफेशनल कौशल से विकास योजनाओं की रूपरेखा तय करने तथा आर्थिक प्रबन्धन में भी उपयोगी सिद्ध होंगे।

युवाओं का चयन मेरिट के आधार पर किया जाए। उनका प्रशिक्षण भी कराया जाए, जिससे यह शासन की नीतियों और प्राथमिकताओं को समझ सकें। उन्होंने ग्राम्य विकास विभाग, पंचायती राज विभाग तथा नगर विकास विभाग को इस सम्बन्ध में व्यापक विचार-विमर्श कर विस्तृत कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री ने दालों के मूल्य नियंत्रण के लिये प्रभावी कार्यवाही किये जाने के निर्देश भी दिये।

मुख्यमंत्री ने ब्लॉक प्रमुख के चुनाव की प्रक्रिया को शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिये सभी आवश्यक उपाय किये जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि इसके लिये पुलिस बल द्वारा अतिरिक्त सतर्कता और संवेदनशीलता बरती जाए। निर्वाचन पूर्ण होने के पश्चात भी किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना न हो, इस सम्बन्ध में भी जरूरी कदम उठाएं जाएं। उन्होंने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया को बाधित करने का प्रयास करने तथा कानून को हाथ में लेने वालों के विरुद्ध प्रदेश सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति के अनुसार कार्यवाही की जाए।

राज्य सरकार की प्रभावी रणनीति और निरन्तर प्रयासों से प्रदेश में कोविड संक्रमण नियंत्रित स्थिति में है। कोरोना संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए संक्रमण से बचाव के सम्बन्ध में थोड़ी लापरवाही भी भारी पड़ सकती है। इसके दृष्टिगत उन्होंने कोरोना प्रोटोकॉल का पूर्णतया पालन सुनिश्चित किये जाने तथा कोविड-19 से बचाव और उपचार की व्यवस्था को प्रभावी रूप से जारी रखने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि विगत 24 घण्टों में राज्य में कोरोना संक्रमण के 100 नए मामले सामने आये हैं। इसी अवधि में 183 संक्रमित व्यक्तियों को सफल उपचार के बाद डिस्चार्ज किया गया है। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के एक्टिव मामलों की संख्या 1,608 है।

मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि राज्य में ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना का कार्य पूरी गति से संचालित हैं। इस कार्य की जनपद व शासन स्तर पर नियमित समीक्षा भी की जा रही है। प्रदेश में अब तक कुल 536 ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना की स्वीकृति प्राप्त हुई है। विगत दिवस तक इनमें से 149 ऑक्सीजन संयंत्रों को क्रियाशील करा दिया गया है।

मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि विगत 24 घण्टों में प्रदेश में कोरोना वैक्सीन 07 लाख 23 हजार 405 डोज एडमिनिस्टर की गई। विगत दिवस तक राज्य में कोरोना वैक्सीन की कुल 03 करोड़ 68 लाख 18 हजार 42 डोज एडमिनिस्टर की जा चुकी हैं। उत्तर प्रदेश देश में सर्वाधिक कोविड वैक्सीन डोज एडमिनिस्टर करने वाला राज्य है

About the author

Ranvijay Singh

Add Comment

Click here to post a comment