Home » अधिवक्ता इकबाल मलिक के चैंबर में धर्मांतरण और निकाह, नोटिस जारी
अपराध न्यूज

अधिवक्ता इकबाल मलिक के चैंबर में धर्मांतरण और निकाह, नोटिस जारी

दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट परिसर में धर्मांतरण और निकाह का हैरतअंगेज मामला सामने आया है। आरोप है कि अधिवक्ता इकबाल मलिक के चैंबर में हिंदू युवती का धर्मांतरण किया गया। इसके बाद उसका निकाह करा दिया गया। लड़की के पिता की शिकायत पर दिल्ली बार काउंसिल ने जांच के लिए तीन सदस्यीय विशेष अनुशासन समिति गठित कर अधिवक्ता को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

देश में किसी भी कोर्ट परिसर में इस तरह का यह पहला मामला सामने आया है। पटपड़गंज क्षेत्र के रहने वाले एक व्यक्ति ने दिल्ली बार काउंसिल से की गई शिकायत में आरोप लगाया है कि उनकी 22 वर्षीय बेटी 28 मई को गायब हो गई थी। 15 जून को उनके पास लापता बेटी का फोन आया जिसके बाद उन्होंने पांडव नगर थाने में त्रिलोकपुरी निवासी कामरान खान पर बेटी बहला-फुसलाकर भगा ले जाने का मुकदमा दर्ज कराया था।

आरोप है कि कामरान ने कड़कड़डूमा कोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए अर्जी दायर कर दी थी। वहां से राहत मिलने में समय अधिक लगा तो उसने युवती के साथ मिलकर हाई कोर्ट में याचिका दायर कर दी। बताया कि वे दोनों इस्लामी रीति रिवाज से शादी कर चुके हैं। साक्ष्य के रूप में उसने निकाहनामा लगाया था जो अल निकाह ट्रस्ट से जारी था।

बता बता दें कि मस्जिदों और मौलवियों के जरिए ही धर्मांतरण का मामला सामने आता रहा है। कोर्ट परिसर में भी ऐसा किया जा रहा है, ये खुलासा पहली बार हुआ है। उत्तर प्रदेश एटीएस धर्मांतरण के एक बड़े रैकेट का खुलासा भी कर चुकी है। प्रवर्तन निदेशालय ने भी धर्मांतरण के इस मामले में छापेमारी की है आशंका जताई जा रही है कि मनी लॉन्ड्रिंग और हवाला का मामला भी इसमें शामिल है।

About the author

Ranvijay Singh

Add Comment

Click here to post a comment