Home » प्रयागराज के चर्चित एसडीएम समेत 13 के खिलाफ ईडी ने शुरू की जांच, कई और फंसेंगे
अपराध न्यूज

प्रयागराज के चर्चित एसडीएम समेत 13 के खिलाफ ईडी ने शुरू की जांच, कई और फंसेंगे

झूंसी स्थित पूर्वोत्तर रेलवे की 41 बीघा जमीन गलत तरीके से प्रॉपर्टी डीलर को आवंटित कर देने के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी)ने प्रयागराज के चर्चित एसडीएम राजकुमार द्विवेदी समेत 13 लोगों के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। ईडी पीएमएलए के तहत मामले में रिपोर्ट दर्ज कर सभी आरोपियों को जल्द नोटिस देकर बयान दर्ज कराने की कार्रवाई शुरू करने वाली है। संभावना जताई जा रही है कि इस मामले में जिला प्रशासन में तैनात रहे पूर्व के कई बड़े अफसर और पूर्वोत्तर रेलवे के कुछ अफसर भी मिलीभगत में फंस सकते हैं। प्रकरण में एक जिलाधिकारी की भूमिका भी संदिग्ध रही है।

प्रयागराज के झूंसी थाने में 10 अगस्त 2017 को फूलपुर तहसील के तत्कालीन तहसीलदार देवेंद्र ने प्रॉपर्टी डीलर कुतुबुद्दीन व उसके भाई सलाउद्दीन के खिलाफ धोखाधड़ी, कूट रचना और सार्वजनिक संपत्ति निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया था। दोनों अभियुक्त फूलपुर के चंदोहा गांव निवासी हैं। आरोप है कि दोनों भाइयों ने झूंसी के कटका गांव और आसपास स्थित रेलवे और सड़क की भूमि गलत तरीके से नाम दर्ज करा ली थी। मामले की विवेचना क्राइम ब्रांच ने की थी। इसमें एसडीएम राजकुमार द्विवेदी, लेखपाल और प्रॉपर्टी डीलर के नाम भी सामने आए थे। 13 लोगों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट फाइल की गई थी। ईडी ने पुलिस की एफआईआर और चार्जशीट के आधार पर मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया है। सूत्रों का दावा है कि सभी आरोपितों की अवैध तरीके से जुटाई गई संपत्ति का पता लगाने के बाद उसे अटैच करने की कार्रवाई की जाएगी।

क्राइम ब्रांच की जांच में खुलासा हुआ था कि प्रॉपर्टी डीलर ने राजस्व अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ मिलीभगत कर खसरा खतौनी के मूल अभिलेखों में छेड़छाड़ कराई थी। आपत्तियों से संबंधित कागजात तहसीलदार की बजाय एसडीएम कोर्ट में प्रस्तुत किया गया था। ताकि जल्द निस्तारण हो सके। इस मामले में कई सरकारी कर्मचारी और अफसर निलंबित भी किए गए थे। बाद में प्रशासन जमीन बिल्डर के कब्जे से मुक्त कराते हुए रजिस्ट्री निरस्त करा चुका है। वर्तमान में जमीन रेलवे और संबंधित विभागों के पास दर्ज हो चुकी है।

ये थे आरोपी

मामले में तत्कालीन एसडीएम फूलपुर राजकुमार द्विवेदी, नायब तहसीलदार निखिल शुक्ला, लेखपाल धर्मपाल यादव, न्यायिक तहसीलदार आशुतोष सिंह, सेवानिवृत्त सीआरओ के भाई लाल सरोज व सुरेश चंद्र, धर्मवीर यादव, मोहम्मद बशीर, मोहम्मद साजिद खान, संजय जायसवाल, फजील जाफरी, प्रॉपर्टी डीलर सलाउद्दीन और कुतुबुद्दीन के नाम शामिल हैं।