Home » डीए/डीआर पर सरकार का रवैये से रेल कर्मियों में आक्रोश, 28 को बैठक
न्यूज परिवहन

डीए/डीआर पर सरकार का रवैये से रेल कर्मियों में आक्रोश, 28 को बैठक

प्रयाजराज । जनवरी 2020 से जुलाई 2021 तक रोके गए महंगाई भत्ते की बहाली और जनवरी 2020 से अब तक महंगाई भत्ते के एरियर लेने की मांग को लेकर इंडियन रेलवे इम्प्लाइज फैडरेशन के आह्वान पर ऐक्टू व इरेफ़ से संबद्ध रेल संगठनों द्वारा रेलवे वर्कशापों, उत्पादन इकाईयों, जोनो, मण्डलो, स्टेशनों आदि जगहों पर विरोध किया जा रहा है। 25 जून को डीए/डीआर की एरियर सहित बहाली के लिए प्रदर्शन करते हुए जमकर ब्लैक डे मना चुके हैं।

26 जून को सचिव समूहों से NJCA की विभिन्न मुद्दों पर वार्ता थी लेकिन किसी भी मुद्दे पर ठोस निर्णय नही आया। DA/DR के 01 जुलाई 2021 से फ्रीजिंग को खत्म किया जाएगा? इस पर संसय बरकरार है। नार्थ सेन्ट्रल वर्कर्स यूनियन के महामन्त्री मनोज पाण्डेय ने कहा कि मंहगाई भत्ता हमारा संवैधानिक हक है। कारोना के चलते देश में महंगाई ने लोगों की कमर तोड़ दी है, जिसके चलते भारत सरकार ने कर्मचारियों को राहत देना तो छोड़ो उनको मिलने वाले महंगाई भत्ते की बढ़ोत्तरी पर जनवरी 2020 से रोक लगा रखी है। मनोज ने कहा कि जुलाई 2021 से सरकार ने महंगाई भत्ता बहाल कर बकाया एरियर की किस्त जारी नहीं की तो हम बड़ा संघर्ष करने के लिए मजबूर होंगे इस दिशा में हमने प्रयास शुरू कर दिया है। 28 जून को इण्डियन रेलवे इम्प्लॉइज फेडरेशन के कोर कमेटी के वर्चुल मीटिंग में आन्दोलन की दिशा तय होगी।