Home » ग्वालियर में लक्ष्मीबाई प्रतिमा से ट्रिपलआईटी तक बनेगी एलिवेटेड रोड
न्यूज राज्य से ख़बरें

ग्वालियर में लक्ष्मीबाई प्रतिमा से ट्रिपलआईटी तक बनेगी एलिवेटेड रोड

भोपाल : ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने ग्वालियर में लक्ष्मीबाई प्रतिमा से ट्रिपल आईटीएम तक बनाई जा रही एलिवेटेड रोड का प्रजेंटेशन देखा। उन्होंने एलिवेटेड रोड में बन रहे लूप पॉइंट की जानकारी ली तथा एलिवेटेड कोरीडोर में आने वाली बाधाओं का शीघ्र निराकरण कर, कार्य में तेजी लाने के लिए निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होने कहा कि एलिवेटेड रोड के लूप पॉइंट सिविल अस्पताल हजीरा पर स्वर्ण रेखा नाले को पाटकर पार्किंग स्थल व हाथ ठेला की व्यवस्था की जाये तो हजीरा से किलागेट तक लगने वाले जाम से भी निजात मिलेगी।  

ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने कहा कि नगर निगम के सहयोग से सिविल अस्पताल हजीरा पर स्वर्ण रेखा नाले को पाटकर सौंदर्यीकरण करें तथा एक नया चैराहा बनाया जाये। इसके साथ ही रोड पर लगने वाले ठेलों को वहाँ पर शिफ्ट किया जाये। उन्होने कहा कि एलिवेटेड रोड के पिलर बनाते समय सीवर चैम्बरों का विशेष ध्यान रखा जाये, साथ ही विद्युत पोल शिफ्टिंग का कार्य भी समय पर कर लिया जाये। उन्होने कहा कि शहर को साफ स्वच्छ रखने के लिए जागरूकता कार्यक्रम चलायें। उन्होने कहा कि शहर में जगह-जगह कचरे के ठिया बने हुए हैं, उनको समाप्त कर सौंदर्यीकरण करें।

श्री तोमर ने कहा कि ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र में भी एक ग्वाला नगर बसाया जाये। इसके लिए जगह चिन्हित कर आवश्यक कार्यवाही करें। निर्माणाधीन ग्वाला नगर कार्य में तेजी लाकर गौवंश को वहां शिफ्ट करने की कार्यवाही करें। उन्होने कहा कि शहर में स्मार्ट सिटी के द्वारा स्ट्रीट लाइटें लगाई जा रही हैं, परंतु उनका रख-रखाव ठीक से नहीं किया जा रहा है। इसके लिए विद्युत विभाग और नगर निगम आपस में समन्वय कर एक नोडल अधिकारी की नियुक्ति करें, जो स्ट्रीट लाइटों से संबंधित समस्याओं का निराकरण करें। 

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि रामदास घाटी पर सीवर लाइन समस्या का निराकरण बरसात होने से पहले कर सीवर लाइन डालने का कार्य शीघ्र चालू किया जाये। इसके साथ ही हजीरा से चार शहर का नाका तक रोड के कार्य में जो भी रूकावटें आ रही हैं, उनकों शीघ्र दूर कर कार्य शुरू कराया जाये। साथ ही डिवाइडरों पर सुंदर व आकर्षक पौधे लगायें, जिससे शहर की सुंदरता बढ़े। बैठक में शहर विकास से संबंधित अन्य बिंदुओं पर भी चर्चा हुई।

About the author

Ranvijay Singh

Add Comment

Click here to post a comment