Home » अयोध्या में होगी अब विकास की बहार, पीएम मोदी ने सीएम योगी के साथ की समीक्षा
देश न्यूज

अयोध्या में होगी अब विकास की बहार, पीएम मोदी ने सीएम योगी के साथ की समीक्षा

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले अयोध्या फिर शीर्ष पर आ गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को मुख्यमंत्री योगी के साथ समीक्षा बैठक कर अयोध्या के विकास के लिए बनाए गए विजन डॉक्यूमेंट को परखा। यह पहला मौका है जबकि अयोध्या के विकास को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री के साथ समीक्षा बैठक की है। पूर्व में अयोध्या

साथ ही रामनगरी के लिए प्रस्तावित कार्यों को तेजी के साथ मूर्तरूप देने का निर्देश दिया है। इससे यह उम्मीद बढ़ गई है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या के विकास के शुरू हुए कार्यों को पहले से भी ज्यादा तेजी के साथ पूरा कराएंगे।

वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों में अयोध्या विजन-2051 की पुस्तिका दिखी। यह पुस्तिका पिछले दिनों अयोध्या विकास प्राधिकरण ने निजी एजेंसी की मदद से तैयार कराई है, जिसमें अयोध्या में होने वाले कार्यों का विस्तृत व्योरा है। इस पुस्तिका में गिनाए गए कार्यों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही धार दे चुके हैं। इसमें राम मंदिर के साथ ही अयोध्या में नया एयरपोर्ट, मेडिकल कॉलेज के अपग्रेडेशन, अंतरराज्यीय बस अड्डा, सड़कों का चौड़ीकरण, रेलवे स्टेशन का मॉडीफिकेशन, फ्लाईओवर, रिंग रोड, भूमिगत विद्युतीकरण, मल्टीस्टोरी पार्किंग, कथा पार्क, सीसीटीवी से पूरी अयोध्या को कवर करना, जल निकासी के लिए सीवर लाइन, श्रीराम मंदिर प्रतिमा निर्माण स्थल, सोलर सिटी के निर्माण आदि कार्य हैं।

प्रधानमंत्री की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ दोनों उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डॉ दिनेश शर्मा, नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी, नगर विकास मंत्री आदि भी शामिल रहे।

गौरतलब है कि पिछले दिनों सपा, आम आदमी पार्टी और कांग्रेस नेताओं ने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के पदाधिकारियों पर जन्मभूमि परिसर के विस्तार के लिए जमीन खरीद में घोटाले का आरोप लगाकर हंगामा खड़ा किया था। इसके बाद से ही आरएसएस, भाजपा, विहिप पीछे छूट चुके अयोध्या के मुद्दे को फिर सामने लाकर धार देने की योजना बनाने में जुटे थे, जिससे विपक्ष के आरोपों से बने माहौल की हवा निकाली जा सके।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से अयोध्या के विकास कार्यों को इस रतह तरजीह देने से यह संकेत साफ हो गया है कि अगले वर्ष होने जा रहे उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अयोध्या फिर चर्चा के केंद्र में रहेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अयोध्या के विकास को यूपी के विकास की पहचान के तौर पर प्रदर्शित कर सकते हैं।

About the author

Ranvijay Singh

Add Comment

Click here to post a comment