Home » महाराष्ट्र में डेल्टा+ खतरे का संकट गहराया, नए प्रतिबंधों की गाइडलाइन जारी
न्यूज राज्य से ख़बरें

महाराष्ट्र में डेल्टा+ खतरे का संकट गहराया, नए प्रतिबंधों की गाइडलाइन जारी

महाराष्ट्र में कोरोना महामारी के नए दौर का संकट गहराने लगा है। डेल्टा प्लस के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती देख राज्य की ठाकरे सरकार ने दुकानों, मॉल और रेस्टोरेंट आदि को खोलने की मिली छूट को नए सिरे से सीमित कर दिया है। अब सामान्य दुकानें शाम 4 बजे तक ही खोली जा सकेंगी। मॉल और थियेटर को पूरी तरह से बंद कर रखने का आदेश दिया गया है।

नए डेल्टा प्लस वेरिएंट के खतरे के बीच महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में प्रतिबंधों के स्तर के बारे में नए दिशानिर्देश जारी किए हैं और स्पष्ट किया है कि अब 5 के बजाय केवल 3 स्तर होंगे।

महाराष्ट्र के मुख्य सचिव सीताराम कुंटे ने राज्य में कुछ कोविड रोगियों में डेल्टा प्लस वायरस की पुष्टि होने के बाद तीसरी लहर के मौजूदा खतरे को देखते हुए नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। नए दिशानिर्देशों के अनुसार, तीसरे स्तर के प्रतिबंधों के तहत आवश्यक दुकानें और प्रतिष्ठान स्तर 3 के तहत आने वाले क्षेत्रों में सभी दिनों में शाम 4 बजे तक खुले रह सकते हैं। गैर-आवश्यक वस्तुओं की दुकानें और प्रतिष्ठान शाम 4 बजे तक खुले रह सकते हैं।

रेस्तरां को सप्ताह के दिनों में शाम 4 बजे तक 50% क्षमता के साथ डाइन-इन की सुविधा और उसके बाद टेकअवे और होम डिलीवरी की अनुमति होगी।

उपनगरीय ट्रेनों का उपयोग केवल चिकित्सा कर्मचारियों, आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मियों और महिलाओं के लिए होगा।

जिम और सैलून शाम 4 बजे तक 50% क्षमता के साथ खुले रहेंगे। मॉल और थिएटर बंद रहेंगे।

सरकारी कार्यालय 50% क्षमता के साथ काम करेंगे। जबकि निजी कार्यालय सभी कार्य दिवसों में शाम 4 बजे तक काम करेंगे।

इस बीच, एक नए डेल्टा प्लस संस्करण से कोविड संक्रमण के कारण रत्नागिरी में एक 80 वर्षीय मरीज की मौत हो गई। रत्नागिरी के संरक्षक मंत्री अनिल परब ने तुरंत स्थिति का जायजा लिया और जिलाधिकारी को सभी एहतियात बरतने के निर्देश दिए। राज्य में शुक्रवार तक कुल 22 मरीजों के मिलने की बात कही गई है।

About the author

Ranvijay Singh

Add Comment

Click here to post a comment