Home » राष्ट्रपति प्रेसिडेंशियल ट्रेन से पहुंचे कानपुर, झिंझक और रूरा स्टेशनों पर पुराने परिचितों से भी मिले
देश न्यूज

राष्ट्रपति प्रेसिडेंशियल ट्रेन से पहुंचे कानपुर, झिंझक और रूरा स्टेशनों पर पुराने परिचितों से भी मिले

राष्ट्रपति, रामनाथ कोविंद शुक्रवार को रात 20:05 बजे एक विशेष प्रासिडेशियल ट्रेन से कानपुर पहुंचे। राष्ट्रपति ने दिल्ली सफदरजंग से कानपुर की अपनी यात्रा के दौरान प्रयागराज मंडल के झिंझक और रूरा स्टेशनों पर दो ठहराव किए। उन्होंने झिंझक स्टेशन के पास अपने पैतृक स्थान परौंख, कानपुर देहात का दौरा करेंगे। यह पहली बार है जब राष्ट्रपति अपना वर्तमान कार्यभार संभालने के बाद जन्मस्थान का दौरा करेंगे।

ज्ञात हो कि, राष्ट्रपति के सैलून की सेवा जो स्वतंत्रता के बाद से उपयोग में थी, जो राष्ट्रपति के निर्देश पर बंद कर दी गई थी। इससे सैलून के रख-रखाव में खर्च होने वाले सालाना करोड़ों रुपये की बचत हुई। कोविड के उपरांत देश पुनरुत्थान और पुनर्निर्माण मोड में प्रवेश कर रहा है। भारतीय रेल ने राष्ट्रपति से आम लोगों  के परिवहन माध्यम से यात्रा करने का अनुरोध किया था।

राष्ट्रपति के दिल्ली से उनके पैतृक गांव जाने के लिए विशेष रेलगाड़ी चलाई गई। यह कदम उन रेलकर्मियों के लिए एक बड़ा मनोबल बढ़ाने वाला होगा जिन्होंने महामारी के समय में लगन से अपनी सेवाएं दी हैं। इससे लोगों को व्यापार, पर्यटन और अन्य उद्देश्यों के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में यात्रा करने के लिए ट्रेनों का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करने और विश्वास बनाने में भी मदद मिलेगी।

राष्ट्रपति 18.00 बजे झिंझक स्टेशन पहुंचे, जहां उनका स्वागत महाप्रबंधक एनसीआर वीके त्रिपाठी ने किया। स्टेशन पर अपने प्रवास के दौरान राष्ट्रपति ने अपने पुराने मित्रों और करीबी परिचितों से मुलाकात की। झिंझक में सभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने घातक महामारी से बचने के लिए लोगों से मास्क पहनने का आग्रह किया। उन्होंने जोर देकर कहा कि मास्क पहनने के अनुशासन का पालन करने वाले लोग कोरोनावायरस के प्रसार को काफी हद तक रोकेंगे।

18:41 बजे ट्रेन झिंझक से रवाना हुई और 18:56 बजे रूरा स्टेशन पहुंची। राष्ट्रपति ने रूरा में आगंतुकों से मुलाकात की। रुरा स्टेशन पर सभा को संबोधित करते हुए, राष्ट्रपति ने एक बार फिर लोगों से वायरस को रोकने के लिए सबसे प्रभावी उपाय के रूप में टीकाकरण करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि मास्क पहनने और अपनी सुरक्षा के लिए सामाजिक दूरी बनाए रखने के अलावा, लोगों को जान बचाने के लिए टीकाकरण के लिए भी जाना चाहिए। राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सभी को मुफ्त टीकाकरण प्रदान करने के लिए बधाई दी।

रूरा में कुछ देर रुकने के बाद राष्ट्रपति कानपुर के लिए रवाना हो गए। प्रेसिडेंशियल ट्रेन 20:05 बजे कानपुर सेंट्रल स्टेशन पहुंची जहां राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा रेलवे और राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उनका स्वागत किया गया।

राष्ट्रपति की ट्रेन यात्रा के दौरान सुनीत शर्मा, सीईओ और सीआरबी रेलवे बोर्ड उनके साथ उपस्थित रहे। कानपुर सेंट्रल पहुंचने के बाद राष्ट्रपति अपने आगे के कार्यक्रम के लिए रवाना हो गए।

जीएम एनसीआर वीके त्रिपाठी ने झिंझक और रूरा के कार्यक्रम अनुक्रम  में राष्ट्रपति की आमजन के प्रति गहरी चिंता और 15 वर्षों के अंतराल के बाद “आम जन के परिवहन” को चुनने के लिए बोलते हुए उन्हें “पीपुल्स प्रेसीडेंट“ कहा।

About the author

Ranvijay Singh

Add Comment

Click here to post a comment