Home » चुनावी साल में योगी सरकार एक लाख युवाओं को दे सकती है नौकरियां
उत्तर प्रदेश न्यूज

चुनावी साल में योगी सरकार एक लाख युवाओं को दे सकती है नौकरियां

लखनऊ: उत्तर प्रदेश चुनावी वर्ष की पहली तिमाही कोरोना महामारी मेें है। प्रदेश सरकार की तरफ से अब तक चुनावी नजरिए से होने वाले बड़े ऐलान भी महामारी मेें फंस गए हैं। इस कमी को पूरा करने के लिए जल्द ही ताबड़तोड़ फैसलों की झड़ी लगाने वाली है, जो महामारी की पीड़ा से नाराज हो चुके लोगों नाराज हो चुुुके लोगों को शांत करने का करेगी। रोजगार भी ऐसा ही मुुुुुद्दा है। पढ़ाई पूरी कर सरकारी नौकरी का इंतजार कर रहे युवाओं को योगी सरकार बड़ी सौगात देने वाली है। सरकार दिसंबर तक एक लाख सरकारी पदों पर भर्ती प्रक्रिया पूरी करने की तैयारी में है। 

कोरोना की दूसरी लहर थमने के साथ ही योगी सरकार ने मिशन रोजगार को रफ्तार दे दी है। प्रदेश भर में आर्थिक गतिविधियों को तेज करने के साथ राज्‍य सरकार ने सरकारी विभागों में रिक्‍त पदों पर भर्ती की प्रक्रिया पूरी करने की ओर कदम बढ़ा दिए हैं। पिछले चार साल में अलग अलग विभागों में लगभग 4 लाख सरकारी नौकरियां दे चुकी योगी सरकार का लक्ष्‍य दिसंबर तक प्रदेश में एक लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देने का है। इसके लिए सभी विभागों को प्रक्रिया तेज करने के निर्देश दे दिए गए हैं। जिन विभागों में भर्ती प्रक्रिया कोरोना के कारण रुकी हुई थी वहां युद्ध स्‍तर पर कार्य शुरू कर चयनित युवाओं की नियुक्ति देने के निर्देश दिए गए हैं। शिक्षा, पुलिस, स्‍वास्‍थ्‍य, ऊर्जा और आबाकारी विभाग में आने वाले दिनों में सबसे ज्‍यादा नौकरियां मिलने जा रही हैं। योगी सरकार का लक्ष्‍य साल के अंत तक अपने कार्यकाल में 5 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देने का है। 

योगी सरकार में रोजगार की बरसात 

दावा है कि राज्‍य सरकार अब तक 1 लाख से अधिक महिलाओं को सरकारी नौकरी दे चुकी है, जबकि मनरेगा के जरिये 1.50 करोड़ श्रमिकों को रोजगार से जोड़ा जा चुका है। स्टार्ट अप इकाईयों से 5 लाख और औद्योगिक इकाइयों से 3 लाख से अधिक युवाओं को भी रोजगार दिया जा चुका है। ओडीओपी के माध्यम से 25 लाख लोगों को रोज़गार मिला है। 50 लाख से अधिक एमएसएमई इकाइयों से 1 करोड़ 80 लाख लोगों को यूपी में रोज़गार मिला है। प्रदेश सरकार की नई उद्योग नीति से 5 लाख से ज़्यादा लोगों को रोज़गार दिया जा चुका है। 40 लाख से अधिक कामगारों/ श्रमिकों की स्किल मैपिंग के बाद रोजगार से जोड़ा गया है। 

यूपी में अब तक हुई  विभागवार भर्ती का ब्‍योरा; 

पुलिस विभाग  -137253
बेसिक शिक्षा – 121000
राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन -28622
यूपी लोक सेवा आयोग – 27168
उत्‍तर प्रदेश अधीनस्‍थ चयन बोर्ड -19917
चिकित्‍सा स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण -8556
माध्‍यमिक शिक्षा विभाग – 14436
यूपीपीसीएल – 6446
उच्‍च शिक्षा – 4988
चिकित्‍सा शिक्षा विभाग – 1112
सहकारिता विभाग – 726
नगर विकास – 700
सिंचाई एवं जल संसाधन-3309
अन्य  – 8132
वित्‍त विभाग – 614
तकनीकी शिक्षा – 365
कृषि -. 2059
आयुष ,-1065
 कुल –  384194
नोट- विभिन्‍न विभागों में 86000 पदों पर भर्ती की प्रक्रिया जारी है।