Home » अगले 4 साल में यूपी की सड़कों पर खर्च होंगे 45.50 लाख करोड़ रुपये, राम वनगमन मार्ग के लिए 12489 करोड़ स्वीकृत
देश न्यूज परिवहन

अगले 4 साल में यूपी की सड़कों पर खर्च होंगे 45.50 लाख करोड़ रुपये, राम वनगमन मार्ग के लिए 12489 करोड़ स्वीकृत

विधानसभा चुनावों की दस्तक के साथ ही उत्तर प्रदेश के लिए केंद्र सरकार के मंत्रालयों की परियोजनाओं पर धनवर्षा के आसार भी बढ़ गए हैं। इसकी शुरुआत केंद्रीय भूतल एवं परिवहन मंत्रालय से हो गई है। केंद्रीय भूतल एवं परिवहन मंत्रालय अगले चार वर्षों में उत्तर प्रदेश में सड़कों, पुलों, बाईपास, एक्सप्रेस-वे, फ्लाईओवर, एलीवेटेड रोड के निर्माण पर 45.50 लाख करोड़ रुपये खर्च की योजना बना रहा है। इस योजना पर तेजी से अमल भी होगा। इसकी पहल राम वनगमन मार्ग के विकास से होने जा रही है। परिवहन मंत्रालय ने इस मार्ग के लिए 12489 करोड़ रुपये मंजूर कर दिए हैं।

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने शनिवार की देर शाम ट्वीट कर केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के फैसलों की जानकारी दी है। केशव मौर्य ने कहा कि केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री @nitin_gadkari द्वारा प्रदेश की उन्नति के लिए कई सड़क परियोजनाओं पर विशेष बल दिया गया है। इसमें राम वन गमन मार्ग के अंतर्गत 7,189 किलोमीटर लागत 12,489 करोड़ रुपए निर्गत कर दिए गए हैं। 84-कोसी परिक्रमा मार्ग (200 किलोमीटर) लागत 2000 करोड़ स्वीकृत किए गए हैं।

राम वनगमन मार्ग पहले चरण में अयोध्या से चित्रकूट के मध्य बनेगा। इसमें प्रतापगढ़ से चित्रकूट के बीच नया एलाइनमेंट विकसित किया जा रहा है। इसके तहत प्रयागराज स्थित श्रृंग्वेरपुर घाट के निकट गंगा पर एक पुल का निर्माण भी प्रस्तावित है। अगले चरणों में चित्रकूट से आगे दक्षिण भारत तक श्रीराम वनगमन मार्ग का विकास किया जाएगा। इसमें उन हिस्सों को शामिल किया गया है जिस मार्ग का इस्तेमाल भगवान श्रीराम ने लंका जाने के दौरान किया था। इस मार्ग के 7189 किमी लंबा होने का अनुमान है।

अयोध्या, गोंडा, बस्ती, बाराबंकी, अंबेडकरनगर जिलों में 84 कोसी परिक्रमा मार्ग विकसित किया जाना है। इस मार्ग के विकास के लिए अयोध्या के साधु-संतों की लंबे समय से माग रही है। वर्तमान में इसका बड़ा हिस्सा अर्धनिर्मित है।

अगले चार वर्षों के दौरान कई सड़क परियोजनाओं का निर्माण किया जाना है, जिसमें 4/6 लेन सड़कें भी शामिल हैं। इस दौरान कई बड़े पुल भी बनने हैं। करीब आधा दर्जन शहरों में रिंग रोड का निर्माण भी होना है। प्रयागराज में भी करीब 4500 करोड़ रुपये की लागत से इनर रिंगरोड का निर्माण होना है। अयोध्या में भी इनर रिंग रोड के निर्माण के लिए कार्ययोजना तैयार की गई है।

About the author

Ranvijay Singh

Add Comment

Click here to post a comment