Home » एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप: 2 स्वर्ण सहित 15 पदक के साथ भारतीय मुक्केबाजों का शानदार प्रदर्शन
खेल न्यूज

एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप: 2 स्वर्ण सहित 15 पदक के साथ भारतीय मुक्केबाजों का शानदार प्रदर्शन

दुबई में हो रहे एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में भारतीय मुक्केबाजों ने देश के लिए पदकों की झड़ी लगा दी है। भारतीय मुक्केबाज संजीत कुमार ने एएसबीसी एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में 91 किलोग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीता। वहीं अमित पंघाल और शिव थापा ने रजत पदक अपने नाम किया।

संजीत कुमार ने जीता स्वर्ण

संजीत ने सोमवार रात एशियाई चैंपियनशिप के फाइनल में पांच बार के एशियाई चैंपियनशिप पदक विजेता और रियो ओलंपिक के रजत पदक विजेता कजाकिस्तान के वासिली लेविट को हराकर स्वर्ण पदक जीता।

इससे पहले, अमित पंघाल पुरुषों के 52 किग्रा फाइनल में मौजूदा ओलंपिक चैंपियन जोइरोव शाखोबिदीन के खिलाफ कड़े मुकाबले में हार गए। गत चैंपियन पंघाल ने विश्व चैंपियन के खिलाफ एक बड़ी लड़ाई लड़ी, लेकिन अंत में उन्हें 2-3 से हार का सामना करना पड़ा और उन्हें रजत पदक पदक से संतोष करना पड़ा। एक अन्य भारतीय मुक्केबाज शिव थापा (64 किग्रा) को भी एशियाई खेलों के रजत पदक विजेता मंगोलिया के बातरसुख चिनजोरिग के खिलाफ 2-3 के विभाजन से करीबी हार का सामना करना पड़ा।

चैंपियनशिप में 5 पदक जीतने वाले दूसरे पुरुष मुक्केबाज हैं थापा

बता दें कि विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता थापा एशियाई चैंपियनशिप में पांच पदक जीतने वाले दुनिया के एकमात्र दूसरे पुरुष मुक्केबाज हैं। 27 वर्षीय असम के मुक्केबाज ने इससे पहले 2013 में स्वर्ण, 2017 में रजत, 2015 और 2019 में दो कांस्य पदक जीते हैं और उस बार उन्हें रजत पदक मिला है।

महिलाओं ने 1 स्वर्ण सहित 10 पदक किए अपने नाम

इससे पहले महिला मुक्केबाजों ने भी अपना दमखम दिखाया और भारतीय महिला मुक्केबाजों ने एएसबीसी एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप 2021 में 1 स्वर्ण सहित 10 पदकों के साथ अपने अभियान का समापन किया।
पूजा रानी ने फॉर्म में चल रही मावलुदा मूवलोनोवा को हराकर अपने खिताब का सफलतापूर्वक बचाव किया और लगातार दूसरा स्वर्ण पदक जीता। भारतीय महिलाओं ने एक स्वर्ण, तीन रजत और छह कांस्य पदक के साथ अपने अभियान का अंत किया।
महिलाओं में अनुभवी मुक्केबाज मैरी कॉम (51 किग्रा), लालबुत्साईही (64 किग्रा) और अनुपमा (+81 किग्रा) को अपने-अपने फाइनल मुकाबलों में रजत पदक से संतोष करना पड़ा। सिमरनजीत कौर (60 किग्रा), लवलीना बोरगोहेन (69 किग्रा), जैस्मीन (57 किग्रा), साक्षी चौधरी (54 किग्रा), मोनिका (48 किग्रा) और स्वीटी (81 किग्रा) उन भारतीय महिला मुक्केबाजों में शामिल हैं, जिन्होंने सेमीफाइनल में कांस्य पदक हासिल किया।

एशियाई मुक्केबाजी में भारत ने 15 पदक किए हासिल

19 सदस्यीय भारतीय दल ने एशियाई मुक्केबाजी में 15 पदक ( 2 स्वर्ण, 5 रजत, 8 कांस्य) हासिल किए हैं और बैंकॉक में 2019 संस्करण के दौरान हासिल किए गए पिछले सर्वश्रेष्ठ 13 पदक (2 स्वर्ण, 4 रजत और 7 कांस्य) को पीछे छोड़ते हुए देश के लिए अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है।