Home » चक्रवाती तूफान ‘यास’ की आशंका से 15 ट्रेन 27 मई तक रद्द
न्यूज राज्य से ख़बरें

चक्रवाती तूफान ‘यास’ की आशंका से 15 ट्रेन 27 मई तक रद्द

कोरोना महामारी के बीच चक्रवाती तूफान ‘यास’ की आशंका के मद्देनजर सुरक्षात्मक कदम उठाते हुए भारतीय रेलवे ने 15 ट्रेनों को 27 मई तक ले लिए रद्द कर दिया है। इस संबंध में उत्तर रेलवे के प्रवक्ता ने जानकारी दी है।

ये ट्रेनें की गई रद्द

शनिवार को प्रवक्ता ने बताया कि नई दिल्ली से चलने वाली रेलगाड़ी संख्या 02801 पुरी-नई दिल्ली स्पेशल, 24, 25 और 26 को जबकि रेलगाड़ी संख्या 02802 नई दिल्ली-पुरी स्पेशल 23, 24 और 25 मई को रद्द रहेगी। रेलगाड़ी संख्या 02814 आनंद विहार-भुवनेश्वर स्पेशल 24 मई को और रेलगाड़ी संख्या 02815 पुरी-आनंद विहार स्पेशल 26 मई और 27 मई को रद्द रहेगी। रेलगाड़ी संख्या 02816 आनंद विहार-पुरी स्पेशल 24 मई और 26 मई को रद्द रहेगी। रेलगाड़ी संख्या 02823 भुवनेश्वर-नई दिल्ली स्पेशल 25 मई को और रेलगाड़ी संख्या 02824 नई दिल्ली-भुवनेश्वर स्पेशल 26 मई को रद्द रहेगी।

रेलगाड़ी संख्या 02826 नई दिल्ली-भुवनेश्वर स्पेशल 24 मई को रद्द रहेगी। रेलगाड़ी संख्या 02875 पुरी-आनंद विहार टर्मिनल और रेलगाड़ी संख्या 02876 आनंद विहार टर्मिनल-पुरी स्पेशल 25 मई को रद्द रहेगी। रेलगाड़ी संख्या 08477 पुरी-योगनगरी ऋषिकेश स्पेशल 25, 26 और 27 मई को और रेलगाड़ी संख्या 08478 योगनगरी ऋषिकेश-पुरी स्पेशल 24, 25 और 26 मई को रद्द रहेगी। रेलगाड़ी संख्या 02209 भुवनेश्वर-नई दिल्ली विशेष और रेलगाड़ी संख्या 02819 भुवनेश्वर-आनंद विहार टर्मिनल स्पेशल 26 मई को रद्द रहेगी। रेलगाड़ी संख्या 02820 आनंद विहार टर्मिनल-भुवनेश्वर स्पेशल 25 मई को रद्द रहेगी।

‘यास’तूफान से निपटने के लिए तैयारियों की समीक्षा के लिए हुई अहम बैठक

वहीं, कैबिनेट सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता में राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) ने शनिवार को एक अहम बैठक की। यह बैठक बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान ‘यास’ से निपटने के लिए केंद्र और राज्यों की सरकारों एवं एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा के लिए आयोजित की गई थी।

इस दौरान भारत मौसम विभाग (आईएमडी) के महानिदेशक ने इस समिति को चक्रवाती तूफान की नवीनतम स्थिति के बारे में जानकारी दी, जिसके 26 मई की शाम तक पश्चिम बंगाल और समीपवर्ती उत्तरी ओडिशा के तटों तक पहुंचने की प्रबल संभावना है। इस दौरान 155 से लेकर 165 किमी प्रति घंटे तक की प्रचंड गति से काफी तेज हवाएं चलने के साथ-साथ इन राज्यों के तटीय जिलों में भारी बारिश होने और तूफानी लहरें उठने की भी आशंका है। संबंधित राज्यों के मुख्य सचिवों ने इस समिति को चक्रवाती तूफान से निपटने के उद्देश्‍य से की गई समस्‍त तैयारियों से अवगत कराया।

एनडीआरएफ ने 65 टीमों को किया तैनात

बताना चाहेंगे मौके पर एनडीआरएफ ने 65 टीमों को तैनात व उपलब्ध कराया है एवं इसके साथ ही 20 और टीमों को अलग से तैयार रखा गया है। जहाजों एवं विमानों के साथ थल सेना, नौसेना और तटरक्षक बल के बचाव व राहत दलों को भी तैनात किया गया है।

अस्पतालों और कोविड देखभाल केंद्रों के निर्बाध संचालन के लिए आवश्यक प्रबंध

अस्पतालों और कोविड देखभाल केंद्रों का निर्बाध संचालन सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक प्रबंध भी किए जा रहे हैं और इसके साथ ही देश भर में फैले कोविड केंद्रों के लिए ऑक्सीजन का उत्पादन एवं आपूर्ति भी सुनिश्चित की जा रही है।