Hindi News, हिंदी न्यूज़, Nationalwheels, नेशनलव्हील्स, Breaking News, ब्रेकिंग न्यूज़, Latest News in Hindi, ताज़ा ख़बरें, Nationalwheels News

प्रयागराज जंक्शन और सिविल लाइंस बस अड्डा होंगे लिंक, बनेगा FOB

प्रयागराज जंक्शन और सिविल लाइंस बस अड्डा होंगे लिंक, बनेगा FOB

प्रयागराज: प्रयागराज जंक्शन और सिविल लाइन बस अड्डे को यात्री सुविधा के लिहाज से आपस में फुटओवर ब्रिज के जरिए लिंक किया जाएगा। प्रयागराज जंक्शन के पुनर्विकास योजना में इस फुटओवर ब्रिज को रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव के सुझाव पर शामिल किया गया है। प्रयागराज जंक्शन के पुनर्विकास योजना पर लगातार निगाह रख रहे रेलवे बोर्ड में लगातार डिजाइन और भविष्य में मिलने वाली विश्वस्तरीय सुविधाओं को समायोजित करने की कोशिशें चल रही हैं।

गौरतलब है कि रेलवे की पुरानी योजना के अनुसार प्रयागराज जंक्शन और कानपुर सेंट्रल स्टेशन को इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट प्राइवेट लिमिटेड के जरिए विकसित किया जाना था। इसमें पीपीपी योजना को शामिल किया गया था, लेकिन आईआरएसडीसी पीपीपी में विकास कर्ताओं को आकर्षित करने में नाकाम रही। करीब 2 महीने पहले रेलवे की इस कंपनी को पूरी तरह बंद कर दिया गया। अब इसके अफसरों को दोबारा रेलवे में समायोजित किया जा रहा है। इसके साथ ही दोनों स्टेशनों के विकास की जिम्मेदारी भी जोनल रेलवे को दे दी गई है।

उत्तर मध्य रेलवे के निर्माण खंड के उप मुख्य अभियंता होतम सिंह के अनुसार रेल मंत्री ने रेलवे स्टेशन के साथ बस स्टैंड को भी लिंक करने की इच्छा जताई है। उनके सुझाव पर ही स्टेशन से बस अड्डे के बीच फुटओवर ब्रिज निर्मित करने की योजना बनाई गई है। फुटओवर ब्रिज होने से स्टेशन से बस अड्डे तक लोग बिना किसी परेशानी के आसानी से पहुंच सकेंगे। दोनों के बीच की दूरी 1 किलोमीटर से भी कम है।

मौजूदा योजना के अनुसार प्रयागराज जंक्शन के एक नंबर फुटओवर ब्रिज के निकट से इसे निकालकर नवाब युसूफ रोड होते हुए सिविल लाइन बस अड्डे तक निर्मित किया जाएगा। यदि इसमें कोई अड़चन आई तो रेलवे परिसर में बनी स्मिथ रोड से डीआरएम ऑफिस के पिछले हिस्से से बस अड्डे को FOB के जरिए कनेक्ट कर दिया जाएगा।

बताया कि रेल मंत्री का प्रयास है कि पुनर्विकास योजना को अगले कई दशकों की जरूरतों को ध्यान में रखकर विकसित किया जाए। रेलवे बोर्ड में इसके लिए डेडीकेटेड टीम काम कर रही है।

प्रयागराज जंक्शन को कुंभ 2025 के पहले पुनर्विकसित करने की तैयारी है। उम्मीद जताई कि अप्रैल 2022 में टेंडर प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। निर्माण प्रक्रिया भी कुछ महीनों में शुरू हो जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *