Hindi News, हिंदी न्यूज़, Nationalwheels, नेशनलव्हील्स, Breaking News, ब्रेकिंग न्यूज़, Latest News in Hindi, ताज़ा ख़बरें, Nationalwheels News

यूपी: 642 करोड़ की 488 पर्यटन परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास

यूपी: 642 करोड़ की 488 पर्यटन परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुुक्रवार को सरकारी आवास पर पर्यटन एवं संस्कृति विभाग की 642 करोड़ रुपये की 488 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया। इन परियोजनाओं में मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्धन योजना, केन्द्रीय योजना, राज्य योजना, जिला योजना एवं ब्रज तीर्थ विकास परिषद के अन्तर्गत परियोजनाओं का लोकार्पण तथा मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्धन योजना, राज्य योजना एवं जिला योजना के अन्तर्गत परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने पर्यटन परियोजनाओं पर आधारित पुस्तक तथा कैलेण्डर का विमोचन भी किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटन विकास के मानचित्र पर उत्तर प्रदेश एक नयी गाथा लिख रहा है। उत्तर प्रदेश में पर्यटन सम्बन्धी परियोजनाओं को तेजी से मूर्तरूप दिया गया है। पर्यटन संवर्धन और सांस्कृतिक चेतना के पुनर्जागरण के अनेक कार्य किये गये हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने आजादी के बाद देश में पर्यटन विकास की सम्भावनाओं को देखते हुए अनेक योजनाएं और कार्यक्रम संचालित किये। इनमें प्रासाद योजना, स्वदेश दर्शन योजना के अन्तर्गत रामायण सर्किट, बुद्ध सर्किट, स्प्रिचुअल सर्किट सहित अन्य पर्यटन सर्किट के तहत पर्यटन सुविधाएं विकसित किये जाने का कार्य हो रहा है। पर्यटन विकास से सम्बन्धित केन्द्र सरकार की सभी योजनाओं और कार्यक्रमों को सफलतापूर्वक संचालित करते हुए उत्तर प्रदेश में विगत लगभग 05 वर्षाें में उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल की गयीं। उन्होंने कहा कि भारत सरकार की योजनाओं से सम्बन्धित सर्वाधिक परियोजनाएं उत्तर प्रदेश को मिलीं, जिनसे पर्यटन स्थलों के विकास में सहायता मिली।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2017 के पूर्व उत्तर प्रदेश पर्यटकों की संख्या की दृष्टि से तीसरे स्थान पर था। आज देश से सर्वाधिक पर्यटक उत्तर प्रदेश में आते हैं और यह प्रथम स्थान पर है। मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्धन योजना के तहत प्रदेश के विभिन्न विधान सभा क्षेत्रों में चयनित पर्यटन स्थलों का विकास कराया जा रहा है। पर्यटन स्थलों में जनसुविधाओं पर जोर देते हुए उन्हें विकसित किया जा रहा है, जिससे लोगों को रोजगार भी उपलब्ध हुए हैं। उन्होंने कहा कि प्रयागराज कुम्भ-2019 को वैश्विक मंच पर सराहना मिली। यह सुव्यवस्था, सुरक्षा, स्वच्छता का मानक बना। वर्ष 2013 में आयोजित कुम्भ के तहत 12 करोड़ श्रद्धालु आये थे, जबकि वर्ष 2019 में इनकी संख्या 25 करोड़ से अधिक हो गयी। प्रयागराज में दिव्य और भव्य कुम्भ के साथ ही अयोध्या में दीपोत्सव, ब्रज में रंगोत्सव एवं कृष्णोत्सव, काशी में देव दीपावली एवं महाशिवरात्रि महोत्सव का आयोजन किया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या के पर्यटन सहित समग्र विकास पर कार्य हो रहा है। उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद के तहत मथुरा व वृन्दावन का पर्यटन विकास कराया जा रहा है। श्रीअयोध्या धाम, श्रीविन्ध्यवासिनी धाम, श्रीनैमिषारण्य धाम, श्रीशुक्रताल धाम, श्रीचित्रकूट धाम, श्रीदेवीपाटन धाम के पर्यटन विकास कार्य भी तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। महर्षि वाल्मीकि से जुड़े लालापुर, गोस्वामी तुलसीदास से सम्बन्धित राजापुर, निषादराज गुह्य से सम्बन्धित श्रृंग्वेरपुर स्थलों को भी विकसित किया जा रहा है। श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के दिव्य और भव्य रूप का लोकार्पण किया जा चुका है। पूरा विश्व श्री काशी विश्वनाथ धाम के इस नये स्वरूप पर आकर्षित है।

केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जी0 किशन रेड्डी ने वर्चुअल माध्यम से कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश की सांस्कृतिक विरासत और गौरव के दृष्टिगत पर्यटन योजनाएं और कार्यक्रम संचालित किये गये, जिससे भारत की सभ्यता और संस्कृति सुदृढ़ हुई है। स्वदेश दर्शन और प्रासाद योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश में कई पर्यटन स्थलों को विकसित किये जाने का कार्य हो रहा है। अवस्थापनाओं और आधारभूत सुविधाओं में वृद्धि हुई है। पर्यटकों और श्रद्धालुओं को सुगमता मिली है। कनेक्टिविटी बढ़ी है।

केन्द्रीय पर्यटन मंत्री ने कहा कि भगवान बुद्ध से जुड़े स्थलों, रामायण सर्किट, श्री काशी विश्वनाथ धाम, अयोध्या व मथुरा-वृन्दावन को विकसित करने का कार्य किया गया है। उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदली है और इसका गौरव बढ़ा है। भ्रष्टाचार, गुण्डाराज, माफियाराज का अन्त हुआ है। रामराज्य की अवधारणा साकार हो रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *