National Wheels

अलकायदा के लखनऊ रैकेट केस में कश्मीर में एनआईए की बड़ी कार्रवाई

लखनऊ: लखनऊ में गजवा-ए-तुल हिंद और अलकायदा गिरोह के खुलासे के मामले में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने कश्मीर में बड़ी कार्रवाई की है। एनआईए ने कश्मीर के शोपियां और बडगाम इलाके के पांच लोकेशंस पर छापेमारी की है। हांलांकि, इस छापेमारी में किसी की गिरफ्तारी हुई या नहीं, अभी यह साफ नहीं हुआ है।

एनआईए ने कहा है कि इस मामले में उमर हलमंडी समेत उसके नेटवर्क के अन्य सदस्यों के खिलाफ छानबीन की जा रही है। एनआईए ने कहा है कि यह नेटवर्क कश्मीर के बाहर अलकायदा और गजवा-तुल-हिंद में नए सदस्यों की भर्ती की जा रहा है। नए लोगों को जोड़ा जा रहा है। हथियार और विस्फोटक भी जमा किए जा रहे हैं। अलकायदा की भारतीय इकाई का नेतृत्व उमर हलमंडी कर रहा है। स्लीपर सेल के जरिए दोनों आतंकी संगठनों की पैठ बढ़ाने की साजिश रची जा रही है।

लखनऊ में यूपी एटीएस ने छापेमारी कर आधा दर्जन से अधिक लोगों को पकड़ा था 11 जुलाई 2021 को इस मामले की प्राथमिकी एटीएस ने दर्ज की थी बाद में प्रदेश से बाहर और गंभीर अपराध को देखते हुए गृह मंत्रालय ने मामले की जांच एनआईए को भी दी। एनआईए ने इस प्रकरण में अलग से 29 जुलाई 2021 को प्राथमिकी दर्ज की थी।

जांच के दौरान बड़ी संख्या में संदेहास्पद डॉक्यूमेंट और डिजिटल डिवाइस बरामद किए गए हैं। सभी को सीज कर दिया गया है। माना जा रहा है कि प्रकरण में जल्द चिह्नित किए गए कुछ आतंक समर्थकों की गिरफ्तारी हो सकती है।

उधर, पश्चिम सिंहभूमि, झारखंड में हुए लांजी फाॅरेस्ट आईईडी विस्फोट कांड में मध्य प्रदेश के शहडोल में एनआईए ने छापेमारी की। जांच एजेंसी ने कहा कि ब्योहारी थाना क्षेत्र के बंशहुक्ली चौराहा स्थिति एक संदिग्ध परिसर में छापेमारी की गई है। छापेमारी के दौरान मोबाइल फोन, हस्तलिखित डायरी समेत कुछ अन्य संदिग्ध वस्तुओं को बरामद किया गया है।

एनआईए ने कहा है कि टोक्लो थाना क्षेत्र केलंजी फॉरेस्ट हिल एरिया में 4 मार्च को हुए IED विस्फोट में झारखंड जगुआर यानी झारखंड पुलिस की एसटीएफ के 3 जवानों की मौत हो गई थी। कुछ अन्य इस घटना में घायल हुए थे। झारखंड पुलिस ने घटना की रिपोर्ट विभिन्न धाराओं में दर्ज किया है। एनआईए ने जांच के बाद सितंबर में दाखिल चार्जशीट में 19 लोगों के खिलाफ आरोपी बनाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *