National Wheels

बक्सर पाॅवर प्लांट की दूसरी यूनिट का भी कार्य शुरू, जून 2023 से होगा उत्पादन

पटना: एसजेवीएन के सीएमडी, एनएल शर्मा ने 1320 मेगावाट (2 X 660) वाले बक्सर थर्मल पावर प्लांट की दूसरी इकाई के कार्यों का वर्चुअल रूप से उद्घाटन किया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 1320 मेगावाट वाले बक्सर थर्मल पावर प्लांट का शिलान्यास 9 मार्च 2019 को किया गया था। श्री शर्मा ने बताया कि केंद्रीय विद्युत और एनआरई मंत्री, आरके सिंह द्वारा परियोजना की प्रगति की लगातार निगरानी की जा रही है। उन्होंने सभी हितधारकों से आह्वान किया कि वे निर्धारित समय सीमा से पहले ही इस परियोजना को चालू करने की दिशा में अपने उत्साहवर्धक प्रयास को जारी रखें। 

इस परियोजना में दो इकाइयां हैं और पहली इकाई से संबंधित 50 प्रतिशत से ज्यादा कार्य को पहले ही पूरा किया जा चुका है। 1320 मेगावाट वाला बक्सर थर्मल पावर प्लांट, जो कि अल्ट्रा सुपर क्रिटिकल टेक्नोलॉजी वाला संयंत्र है, एसजेवीएन थर्मल प्राइवेट लिमिटेड (एसजेवीएन लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी) द्वारा विकसित किया जा रहा है।

इस संयंत्र में लगभग 11,000 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है। इस संयंत्र के चालू होने पर 9828 मिलियन यूनिट विद्युत का उत्पादन होगा। उन्होंने प्रधानमंत्री द्वारा निर्धारित किए गए “24X7 पावर फॉर ऑल” के लक्ष्य की प्राप्ति की दिशा में योगदान करने पर जोर दिया।

उन्होंने कहा कि संयंत्र की गतिविधियों में शामिल प्रत्येक व्यक्ति को जून 2023 तक संयंत्र की पहली इकाई और जनवरी 2024 तक दूसरी इकाई को चालू करने की दिशा में एक साथ मिलकर लगातार काम करने की आवश्यकता है।

वर्तमान समय में एसजेवीएन की स्थापित क्षमता 2016.51 मेगावाट है और इसकी क्षमता 11000 मेगावाट से ज्यादा है और 2023 तक 5000 मेगावाट, 2030 तक 12000 मेगावाट और 2040 तक 25000 मेगावाट उत्पादन करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। एसजेवीएन की विद्युत उत्पादन क्षमता विभिन्न क्षेत्रों में है जिसमें जल, पवन, सौर और थर्मल शामिल हैं। कंपनी की उपस्थिति एनर्जी ट्रांसमिशन के क्षेत्र में भी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *