National Wheels

मां की ₹500 पेंशन और भाई की दिहाड़ी से नहीं चलता था ख़र्च, 3 बहनों लगा ली फांसी

उत्तर प्रदेश के जौनपुर में आर्थिक तंगी के कारण तीन बहनों ने ट्रेन के सामने कूदकर अपनी जान दे दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। रेलवे लाइन पर एक साथ तीन बहनों के शवों को देखने के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। आशंका है कि तीनों ने आत्महत्या आधी रात के करीब की है। वहीं, इस मामले में पुलिस आगे की कार्रवाई में जुट गई हैं। बताया रहा है कि पूरा परिवार पैसों की किल्लत से जूझ रहा था।

थाना बदलापुर अंतर्गत ग्राम फत्तूपुर के पास  हरिपालगंज व केशवराय रेलवे स्टेशनों के बीच अप रेलवे लाइन पर कोलकाता-नांगल एक्सप्रेस ट्रेन के आगे 3 लड़कियों द्वारा आत्महत्या करने की सूचना मिली थी। स्थानीय पुलिस द्वारा जांच के दौरान घटना स्थल से प्राप्त मोबाइल से बात करने पर इनके बारे में जानकारी हासिल हुई थी। इसके बाद ही पता चला कि तीनों बहन अहिरौली निवासी हैं।

पुलिस द्वारा दी गई सूचना के मुताबिक, आत्महत्या करने वाली तीनों बहनें काफी समय से आर्थिक तंगी का सामना कर रहे थे। परिवार में उनके अलावा मां, भाई और दो बहन भी हैं। इसमें एक बहन की शादी हो चुकी है और दूसरी अपने फूफा के घर में रहती हैं। वहीं भाई दिहाड़ी मजदूरी कर के परिवार का भरण-पोषण करता है।

आत्महत्या करने वाली बहनों का नाम  प्रीति (18 वर्ष), आरती (16 वर्ष), काजल (14) है। बताया जा रहा है इनके पिता राजेन्द्र गौतम की मौत पहले ही हो चुकी थी और मां विकलांग हैं, जिन्हें 500 रुपये पेंशन के रूप मिलता था। पेंशन और भाई की दिहाड़ी से ही घर चलता था। घर की आर्थिक तंगी की वजह से तीनों बहनों ने रेलवे पटरी पर ट्रेन से कटकर अपनी जान दे दी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *