National Wheels

प्रयागराज: एसडीएम और एसओ की करतूत, नाला बेच डाला प्लाटर को? ट्रैक्टर के आगे लेट एई ने बचाई जमीन

प्रयागराज: कोरांव के उप जिला अधिकारी और खीरी थानाध्यक्ष ने प्लॉटर से मिलीभगत कर प्राकृतिक नाले की जमीन को भी बेच डाला है? आरोप है कि प्लाटिंग करने वाले लोगों के साथ मिलीभगत कर प्राकृतिक नाले की जमीन को भूखंडों का हिस्सा बना दिया और उस पर कब्जा कराने के लिए जोर जबरदस्ती भी कर डाली। गनीमत थी कि सिंचाई विभाग के सहायक अभियंता ने नाले की जमीन पर मिट्टी डाल रहे ट्रैक्टर के सामने लेट कर हंगामा खड़ा कर दिया। बवाल बढ़ा तो नाले की जमीन बचने की उम्मीद जगी है। प्रकरण में जिलाधिकारी ने कहा है कि प्राकृतिक नाले को पाटनी में जो भी लिप्त है, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। एक टीम गठित कर मामले की जांच कराई जाएगी।

घटना और प्रकरण खीरी थाना क्षेत्र के खपटिहा गांव का है। सड़क किनारे गांव में करीब 40 फीट चौड़ा प्राकृतिक नाला है। यह खीरी रजबहा से शुरू होकर कई गांव से होते हुए लपरी नदी में गिरता है। सिंचाई विभाग भी जरूरत पर इसमें पानी छोड़ता है। उसकी सफाई भी कराता है। खपटिहा गांव निवासी रूपेश बागवानी, संजय श्रीवास्तव और सुनील श्रीवास्तव नाले किनारे की जमीन पर प्लाटिंग करा रहे हैं। आरोप है कि इन सभी लोगों ने एसडीएम और खीरी थानाध्यक्ष से मिलकर नाले की जमीन कब्जाने और नाले को जमीन के पीछे शिफ्ट करने की सांठगांठ कर डाली। नाला स्थानांतरित करने का आदेश एसडीएम 11नवंबर को कर चुके हैं।

एसडीएम अभिनव कनौजिया और एसओ की सहमति से प्लाटिंग कराने वाले लोग कुछ दिनों से प्राकृतिक नाले की जमीन पर मिट्टी गिराकर पाट रहे थे। आरोप है कि प्राकृतिक नाले को परिवर्तित स्वरूप देने और शिफ्ट करने की मोटी कीमत का लेनदेन हुआ है।

बताते हैं कि जानकारी होने पर सिंचाई विभाग के सहायक अभियंता अनिल यादव ने एसडीएम से टेलीफोन पर शिकायत दर्ज कराई कि यह प्राकृतिक नाला है और सिंचाई विभाग इसका इस्तेमाल करता है। आरोप है कि एसडीएम ने अभियंता को धमकाकर चुप करा दिया। मौके पर काम रुकवाने का प्रयास किया तो थानाध्यक्ष ने भी धमकाया। कोई काम बनता न दिखा तो सहायक अभियंता ने अलहदा रुख अपनाया। वह भागकर ट्रैक्टर-ट्राली के सामने लेट गए स्थानीय तमाम संवाददाता भी मौके पर पहुंच गए। बात कमिश्नर तक पहुंची तब काम रुका।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *