National Wheels

प्रयागराज: शिक्षिका और BEO विवाद में पांच BEO की बड़ी कमेटी बनी, करेगी जांच

प्रयागराज: सैदाबाद विकास खंड के संविलियन विद्यालय मलेथुआ की शिक्षिका कविता और बीईओ के बीच हुए विवाद में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में बवाल के बाद एक बड़ी जांच कमेटी बना दी गई है। इस कमेटी में करछना, शंकरगढ़, हडिया, मऊआइमा के खंड शिक्षा अधिकारियों के साथ नगर क्षेत्र के खंड शिक्षा अधिकारी को भी शामिल किया गया है। आशंका जताई जा रही है की जांच कमेटी की रिपोर्ट के बाद प्रकरण में बड़ी कार्रवाई हो सकती है। उधर, यह मामला अब मुख्यमंत्री कार्यालय और बेसिक शिक्षा मंत्री तक भी पहुंच चुका है।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रवीण कुमार तिवारी ने 15 नवंबर को जारी आदेश में खंड शिक्षा अधिकारी संतोष कुमार श्रीवास्तव करछना, नरेंद्र सिंह शंकरगढ़, शिव औतार नगर क्षेत्र, ममता सरकार हंडिया और किरण यादव मऊआइमा को जांच टीम में शामिल किया है। बीएसए ने जांच अधिकारियों से 1 सप्ताह के भीतर रिपोर्ट देने को कहा है जिससे प्रकरण में आगे की कार्यवाही की जा सके।

बीएसए ने जांच के लिए बनाई गई बड़ी कमेटी के पत्र में कहा है कि विद्यालय में कार्यरत सभी अध्यापक अध्यापिकाओं को रविवार को कार्यालय में बुलाया गया था। सुनवाई के दौरान शिक्षक शिक्षिकाओं ने कई अन्य तथ्यों को संज्ञान में लाया है। पूर्व में गठित समिति में महिला जांच अधिकारी को सम्मिलित किए जाने की अपरिहार्यता को देखते हुए नई 5 सदस्य समिति गठित की गई है।

बीएसए ने कहा है कि 9 नवंबर को हुई घटना के साथ ही विद्यालय में वर्ष 2020 से अद्यतन अध्यापक उपस्थिति लॉग बुक के आधार पर अवकाश विवरण, अवकाश स्वीकृति आदेश (वैध) सीसीएल अवकाश एवं चिकित्सीय अवकाश के पश्चात फिटनेस प्रमाण पत्र के आधार पर कार्यभार ग्रहण तथा विद्यालय की शैक्षिक गुणवत्ता के अतिरिक्त अन्य बिंदुओं पर जांच कर संयुक्त जांच आख्या 1 सप्ताह के अंदर कार्यालय को उपलब्ध कराई जाए। जांच समिति विद्यालय की भौतिक एवं शैक्षिक परिवेश, विद्यालय में शिक्षकों की नियमित उपस्थिति, विद्यालय संचालन संबंधी सभी पहलुओं आदि के संबंध में भी विस्तृत जांच करेगी।

जांच में विद्यालय में कार्य सभी स्टाफ, अध्यनरत छात्र-छात्राओं, विद्यालय प्रबंध समिति के सदस्य गण, ग्राम प्रधान एवं अस्थानीय अभिभावकों एवं मध्यान भोजन योजना अंतर्गत कार्य कुक कम हेल्पर आदि से भी प्रकरण के संबंध में बातचीत कर रिपोर्ट बनाई जाएगी।

गौरतलब है कि महिला शिक्षिका कविता और एबीएसए के बीच हुए विवाद की जड़ ने छुट्टियों की स्वीकृति को बड़ा मामला बताया जा रहा है। विद्यालय में प्रधानाध्यापक और शिक्षकों के दो गुट है, जहां अवकाश स्वीकृत को लेकर भारी विवाद है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *