National Wheels

रविवार को BSA दफ्तर में ABSA को बचाने का कुचक्र? फफक कर बोली पीड़ित शिक्षिका- ये कैसी जांच?

प्रयागराज: जिले सैदाबाद विकास खंड के खंड शिक्षा अधिकारी बलिराम और मलेथुआ की महिला शिक्षिका कविता के बीच सप्ताहभर पहले हुए विवाद की महापंचायत रविवार को छुट्टी के दिन बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रयागराज के दफ्तर में हुई। जानकारी के अनुसार बीएसए ने पीड़ित शिक्षिका के साथ विद्यालय के सभी शिक्षकों और एबीएसए को बुलाकर पूछताछ की। आरोप है कि छेड़छाड़ की शिकायत करने वाली शिक्षिका पर समझौते का दबाव बनाया गया। इससे वह कक्ष के बाहर निकलकर फफक पड़ी। साथ पहुंचे शिक्षिका के पति और बीएसए के बीच कहासुनी और हंगामा भी हुआ।

बता दें कि पिछले दिनों विकास खण्ड सैदाबाद के संविलियन विद्यालय मलेथुआ में शिक्षिका कविता ने जांच के लिए पहुंचे बीईओ बलिराम को कथित छेड़खानी का आरोप लगाते हुए चप्पलों से पीटा था। प्रकरण में शिक्षिका निलंबित है। लेकिन एबीएसए के खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। शिक्षिका ने एबीएसए के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने का प्रार्थनापत्र भी थाने में दे रखा है।

इसी मामले मे रविवार को बीएसए ने उक्त विद्यालय के समस्त स्टाफ को अपना पक्ष प्रतुत करने हेतु अपने कार्यालय बुलाया था। शिक्षिका कविता भी अपने पति के साथ कार्यालय आयी थी।

जानकारी के अनुसार बीएसए ने जांच के दौरान शिक्षिका कविता से छेड़खानी न होने के विषय में लिखित अभिकथन देने के लिये दबाब बनाया। इस पर वह बाहर आकर रोने लगी। इस बात को लेकर बीएसए कक्ष में पहुंचे शिक्षिका के पति ब्रृजेश गौतम और बीएसए में कॉफ़ी नोक-झोंक हुई। कविता ने पूरी जांच प्रक्रिया पर सवाल उठाया है।

ब्रृजेश गौतम ने बीएसए प्रयागराज पर आरोप लगाया कि वह उनकी पत्नी पर दबाव बनवाकर बीईओ बलिराम को क्लीन चिट देना चाह रहे हैं। उन्होंने यहां तक कहा कि बीएसए के पद पर बने रहने तक उन्हें प्रकरण के निष्पक्ष जांच की बिल्कुल भी उम्मीद नहीं है। गौतम ने बीएसए पर दुर्व्यवहार का आरोप भी लगाया।

फिलहाल, मामला अब नए सिरे उठ सकता है। बताते हैं एबीएसए बलिराम प्रयागराज में ही तैनाती के दौरान पूर्व में निलंबित हो चुके हैं। कोरांव में तैनाती के दौरान भी भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच हुई है। नया विवाद भी छुट्टी देने के बदले वसूली और विद्यालय में प्रधानाध्यापक की अगुवाई वाले गुट की गुटबाजी का बताया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *