Home » अखिलेश के पिताजी ने जिसका शिलान्यास किया, उसे भी हमने बनाया है – केशव मौर्य
उत्तर प्रदेश न्यूज

अखिलेश के पिताजी ने जिसका शिलान्यास किया, उसे भी हमने बनाया है – केशव मौर्य

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव पर बड़ा हमला किया है। अखिलेश यादव के आरोपों पर पलटवार करते हुए डिप्टी सीएम ने कहा कि जिन पुलों और सड़कों का शिलान्यास मुलायम सिंह यादव ने अपने मुख्यमंत्री काल में किया था, उसका भी निर्माण हमारी (भाजपा) सरकार ने पूरा कराया है। यदि अखिलेश यादव ने उन परियोजनाओं के लिए धन का आवंटन किया होता तो हमें उसका निर्माण नहीं कराना पड़ता।

एक टीवी चैनल के प्रोग्राम में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि पिछले 15 वर्षों में ही नहीं बल्कि विपक्ष की सभी सरकारों ने मिलकर वंचितों, गरीबों और पिछड़ों के लिए अब तक जितना काम किया है, उससे अधिक काम पिछले 7 वर्ष में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और 2017 से अब तक उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार ने मिलकर किया है। कहा कि 2017 से अब तक यूपी में करीब 550 पुलों का निर्माण कराया है। मेडिकल काॅलेज, इंजीनियरिंग काॅलेज, विश्वविद्यालय का निर्माण भी पिछली सभी सरकारों से ज्यादा भाजपा सरकार ने कराया है।

अखिलेश यादव के यह कहने पर कि जिन कार्यों का शिलान्यास उनकी सरकार ने किया था जो भी सरकार सिर्फ उनका फीता काट रही है इस सरकार ने कोई नया काम नहीं किया है, डिप्टी सीएम ने कहा कि अखिलेश यादव से यह पूछा जाना चाहिए कि क्या केवल शिलान्यास करने से ही निर्माण कार्य पूरा हो जाता है? यदि उनके शिलान्यास करने से ही निर्माण हो जाता तो उसका काम हमारी सरकार को नहीं करना पड़ता। हम दूसरे कार्य करते। केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि अखिलेश यादव ने सिर्फ एक एक्सप्रेस-वे का निर्माण शुरू कराया, उसे भी वह अपने कार्यकाल में पूरा नहीं कर सके। जबकि भारतीय जनता पार्टी की सरकार में 5 एक्सप्रेसवे बन रहे हैं और सरकार का कार्यकाल पूरा होने तक इसमें तीन एक्सप्रेसवे के चालू हो जाने की संभावना है। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे अगले कुछ दिनों में ही चालू हो सकता है।

अब्बाजान मुद्दे पर कहा कि मुलायम सिंह यादव को उनकी ही पार्टी के लोग मौलवी या मौलाना मुलायम सिंह यादव कहते थे और इसे सुनकर वह खुश होते थे। उन्हें लगता था कि इससे उनका वोट बैंक बन रहा है अब्बाजान या चचाजान से भाजपा का कोई लेना देना नहीं है। इन शब्दों को विपक्ष के लोग ही कर रहे हैं।